Tel: +91-9917692520 | Contact: contact@mssnews.in | July 23, 2018



पेंडिंग पेडे केसें का निष्तारण शीध्र हो-जिलाधिकारी


एटा। जिला मजिस्ट्रेट सेल्वा कुमारी जे ने कहा कि विकास, जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन के साथ जनपद में कानून एवं शांति व्यवस्था बनाये रखना भी ज्यादा महत्वपूर्ण है। इस विषय पर कोई समझौता नहीं होगा, कुछ नहीं सुना जायेगा, सभी पूर्ण गंभीर होकर, निष्पक्ष होकर अपने दायित्वों का निर्वहन करें, कहीं पर भी कोई शिथिलता लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। साथ ही सबे पुराने सभी एवं सभी पेंडिंग केस जल्द से जल्द निबटाये जायें। जिला मजिस्ट्रेट सेल्वा कुमारी जे जनपद में कानून एवं शांति व्यवस्था सुदृढ़ बनाये रखने के संबंध में लंबित गंभीर अपराधों एवं अभियोजन संबंधी बैठक की समीक्षा हेतु कलैक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में संबंधित अधिकारियों को निर्देशित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि पुराने एवं पेंडिंग पड़े सभी केसों को जल्द से जल्द निबटाया जाये। बेल के ऊपर काफी कमेंट आ रहे हैं, उसे शीघ्रता से देखा जाये। एटा शहर से गवाह नहीं आ रहे हैं। महिलाओं के मामलों को गंभीरता से लिया जाये, महिलाओं के क्राइम रोके जायें। लड़कियांे के ब्यान होने के बाद 24 घण्टे के अन्दर उनका मेडीकल कराया जाये। कोर्ट समयसारिणी में परिवर्तन किया जाये। जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने कहा कि महिला चिकित्सक रात्रि को मुख्यालय पर ही रहें, गैंगस्टर के संबंध में कार्यशाला की जाये। 302 के आरोपियों के मामलों को गंभीरता से लिया जाये, उन पर गैंगस्टर न लगाया जाये। मामले की गहराई से जांच पड़ताल करने के बाद संबंधित थाने में समीक्षा कर ली जाये। 17 आर्म ए, गुण्डा एक्ट की सीओ एवं एसडीएम समीक्षा कर लें। एनटीपीएस के केसों को भी ध्यान से देख लें। एनटीपीएस के केसों को भी ध्यान से देख लें, स्कूलों पर बेरीकेटिंग लगाये जायें। उन्होंने कहा कि तहसील दिवस के केसों को शीघ्र निबटाया जाये। कोई भी प्रार्थनापत्र लंबित न रखा जाये। एसडीएम 107/16 के सप्ताह में तीन केस अवश्य निबटायें, आने वालों त्योहारों की अभी से तैयारी कर लें। रजिस्टर में जो दर्ज है उन्हीं को परमीशन दी जाये। डीजे की परमीशन न दी जाये। जिला मजिस्ट्रेट सेल्वा कुमारी जे ने कहा कि उपभोक्ताओं को उनका वाजिव हक मिले, उनका खाद्यान्न उन्हें मिले, इसके लिए जरूरी है कि आकस्मिक छापामार अभियान तेजी से चलाये जायें, राशन की कालाबाजारी, घटतौली, मुनाफाखोरी करने वालों का माल जब्त करें और जेल भेजें। उपभोक्ताओं को शुद्ध व अच्छी खाद्य सामिग्री मिलनी चाहिए, इसके लिए अभियान चलाकर खाद्य वस्तुओं के नमूने लिये जायें, सड़े गले कटे फल, खुली मिठाईयां, रसायनिक दूध आदि बनाने व बेचने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाये। स्वास्थ्य चिकित्सा विभाग उन सभी को देखे जो अवैध रूप से चिकित्सकीय कार्य कर रहे हैं, जिनके कारण कभी विषम परिस्थितियां आ जाती हैं, ऐसे अप्रशिक्षित व अवैध रूप से चिकित्सीय कार्य करने वालों के विरूद्ध भी कार्यवाही की जाये। बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र कुमार वर्मा, एडीएम लालमणि मिश्रा, एसडीएम सदर अजीत कुमार, एएसपी, क्षेत्राधिकारी, थाना प्रभारी, संबंधित अन्य अधिकारी, डीजीसी, एडीजीसी आदि मौजूद थे।